भारतीय मूल के अमेरिकी अर्थशास्त्री अभिजीत बनर्जी, उनकी पत्नी एस्थर डफलो और अमेरिकी अर्थशास्त्री माइकल क्रेमर को ‘वैश्विक गरीबी उन्मूलन के प्रयोगात्मक तरीकों’ पर उनके शोध को लेकर संयुक्त रूप से 2019 के लिए अर्थशास्त्र का नोबेल पुरस्कार मिला है। एस्थर ने 1999 में अभिजीत के मार्गदर्शन में इकोनॉमिक्स में पीएचडी की थी।