02 April 2020 Current Affairs With Pdf

02 April 2020 Current Affairs With Pdf Show More |Notesbag provides daily current affairs in Both languages and that is current affairs in Hindi and daily Current affairs in English. Along with Everyday Current Affairs Notesbag also provide current affairs in pdf.If u will read current affairs gk today it will definitely help you in your next exam preparation. Notesbag also provides daily current affairs quiz for 2020 current affairs. Reading daily current affairs and attempting daily current affairs quiz will definitely make your path towards success. Notesbag current affairs are very useful for SSC Exams, Banking Exams, UPSC exams, and State PCS exams. All current Affairs in Hindi and all Ranks & Reports current Affairs in English useful for the next exam preparation will be shared by us under this category. You can read daily current affairs, monthly current affairs pdf, weekly current affairs pdf and also can download pdf of daily current affairs. Notesbag also provide current affairs one-liner

01 April 2020 Current Affairs withDaily Current Affairs, Next Exam Preparation, Current Affairs PDF, 27 March 2020 Current Affairs withDaily Current Affairs, Next Exam Preparation, Current Affairs PDF,

01 April 2020 Current Affairs with

 

 


SCTIMST ties up with Wipro 3D to manufacture automated ventilators.

Sree Chitra Tirunal Institute for Medical Sciences and Technology (SCTIMST), an institute of National Importance of the Department of Science and Technology, has tied up with Wipro 3D, Bengaluru to jointly build up on a prototype of an emergency ventilator system based on Artificial Manual Breathing Unit (AMBU), developed by SCTIMST followed by its clinical trial and manufacture  to meet COVID 19 related crisis.

AMBU bag or a bag-valve-mask (BVM) is a hand-held device used to provide positive pressure ventilation to a patient who is either not breathing or who is breathing inadequately.

एससीटीआईएमएसटी ने आटोमेटेड वेंटिलेटरों का निर्माण करने के लिए विप्रो 3डी के साथ करार किया

विज्ञान एवं प्रौद्योगिकी विभाग के राष्ट्रीय महत्व के संस्थान, श्री चित्र तिरुनल चिकित्सा विज्ञान एवं प्रौद्योगिकी संस्थान (एससीटीआईएमएसटी) ने विप्रो 3डी, बेंगलुरु के साथ एससीटीआईएमएसटी द्वारा अपने नैदानिक परीक्षण एवं विनिर्माण के बाद विकसित आर्टिफिशियल मैनुअल ब्रीदिंग यूनिट (एएमबीयू) पर आधारित एक आपातकालीन वेंटिलेटर सिस्टम के प्रोटाटाइप का संयुक्त रूप से निर्माण करने के लिए करार किया है, ताकि कोविड 19 से संबंधित खतरे का सामना किया जा सके।

एएमबीयू बैग या एक बैग-वाल्वमास्क (बीवीएम) एक हाथ में रखा जाने वाला उपकरण है जिसका उपयोग किसी रोगी को, जो या तो सांस नहीं ले रहा है, या अपर्याप्त रूप से सांस ले रहा है, को सकारात्मक प्रेशर वेंटिलेशन देने में किया जाता है।


GoI launches “Aarogya Setu” app to track Covid-19.

Aarogya Setu” is the official COVID-19 tracking app that has been launched by the Government of India. The “Aarogya Setu” app has been developed by the National e-Governance Division of the Ministry of Electronics and Information Technology in association with the Ministry of Health and Family Welfare.

The mobile application aims to augment the initiatives of the Government of India, particularly the Department of Health, by proactively reaching out to and inform the users of the app regarding the risks, best practices along with the relevant advisories related to the containment of COVID-19.

सरकार ने कोविड-19 को ट्रैक करने के लिए “आरोग्य सेतु” ऐप लॉन्च की

अरोग्या सेतु” भारत सरकार द्वारा COVID-19 को ट्रैकिंग करने के लिए लॉन्च की गई आधिकारिक ऐप है। “आरोग्य सेतु” ऐप को स्वास्थ्य और परिवार कल्याण मंत्रालय के सहयोग से इलेक्ट्रॉनिक्स और सूचना प्रौद्योगिकी मंत्रालय के राष्ट्रीय ई-गवर्नेंस डिवीजन द्वारा विकसित किया गया है।

इस मोबाइल एप्लिकेशन का उद्देश्य भारत सरकार, विशेष रूप से स्वास्थ्य विभाग की पहलों को लोगों तक पहुँचाना है और एप्लिकेशन के उपयोगकर्ताओं को जोखिम, सर्वोत्तम प्रयासों के साथ-साथ COVID से निपटने से संबंधित जरुरी सलाह के बारे में जानकारी प्रदान करना है।


DST-SERB announces first set of approved projects to combat COVID-19.

The Department of Science and TechnologyScience and Engineering Board (DST-SERB) announced several special research project calls to urgently ramp up national R&D efforts against the epidemic.

The first set of 5 projects has been selected by DST-SERB, which will be supported for further development into implementable technologies. Three of these projects concern the highly important issue of antiviral and virustatic surface coating of inanimate surfaces, while another one deals with the identification of metabolite biomarkers in CoVID-19 infected patients enabling therapeutic target identification; and the last one concerns with the development of antibodies against the receptor-binding domain of the spike glycoprotein of coronavirus.

The projects are the following: –

  1. Identification of global metabolite biomarkers in CoVID-19 infected patients for targeted therapy
  2. Development of functionalized inanimate surfaces with repurposable multi-targeted viricidal agents/drugs for preventive and cost-effective antiviral applications
  3. Development of antiviral surface coatings to prevent the spread of infections caused by influenza virus
  4. Development of formulations for viral decontamination of inanimate surfaces
  5. Antibody-based capture of 2019-nCoV and its inactivation using lipid-based in situ gel

डीएसटी-एसईआरबी ने कोविड-19 संक्रमणों से निपटने के लिए मंजूर परियोजनाओं के पहले सेट की घोषणा की

भारत में कोविड-19 संक्रमण के बढ़ते बोझ के मद्देनजर, विज्ञान और प्रौद्योगिकी विभाग – विज्ञान और इंजीनियरिंग बोर्ड (डीएसटी-एसईआरबी) ने महामारी के खिलाफ अनुसंधान और विकास के राष्ट्रीय प्रयासों को तुरंत बढ़ाने के लिए अनेक विशेष अनुसंधान परियोजनाओं की घोषणा की है।

डीएसटी-एसईआरबी ने 5 परियोजनाओं का पहला सेट चुना है, जिसे अमल में लाने योग्‍य प्रौद्योगिकियों के और विकास के लिए सहायता दी जाएगी। इन परियोजनाओं में से तीन, निर्जीव सतहों के एंटीवायरल और वायरस्टेटिक सतह कोटिंग का अत्यधिक महत्वपूर्ण मुद्दा है; जबकि एक अन्य कोविड-19 संक्रमित रोगियों में मेटाबोलाइट बायोमार्कर की पहचान से संबंधित है, जो चिकित्सीय लक्ष्य की पहचान करता है; और आखिरी कोरोनोवायरस के स्पाइक ग्लाइकोप्रोटीन के रिसेप्टर-बाध्यकारी डोमेन के खिलाफ एंटीबॉडी के विकास से संबंधित है |

परियोजनाएँ निम्नलिखित हैं:

  1. लक्षित चिकित्सा के लिए कोविड​​-19 संक्रमित रोगियों में वैश्विक मेटाबोलाइट बायोमार्कर की पहचान
  2. रोग निरोधी और किफायती एंटीवायरल प्रयोगों के लिए दोबारा प्रयोजनीय बहु-लक्षित वीरीसिडल (वायरस को नष्‍ट करने की ओर बढ़ रहे) एजेंटों/ दवाओं के साथ कार्यात्मक निर्जीव सतहों का विकास।
  3. इन्फ्लूएंजा वायरस के कारण संक्रमण के प्रसार को रोकने के लिए एंटीवायरल सतह कोटिंग्स का विकास
  4. निर्जीव सतहों के वायरल परिशोधन के लिए सूत्रीकरण का विकास
  5. 2019-एनसीओवीकी एंटीबॉडी आधारित पकड़ और यथास्‍थान जैल में लिपिड-आधार का उपयोग करके इसकी निष्क्रियता

World Bank offers $1 billion for proposed India COVID-19 emergency.

The World Bank has offered $1 billion to the Indian government for a proposed India COVID-19 emergency response and health systems preparedness project. This four-year project aims to develop the preparedness of India’s health care systems in the time of the pandemic.

The idea of the project will be to respond and mitigate the COVID-19 threat and strengthen national systems for public health preparedness in India, as per the project document. The World Bank funding is from its COVID-19 fast-track facility where both the entities (World Bank and the government of India) will work on following the best international practice.

वर्ल्ड बैंक ने भारत को COVID-19 से निपटने के लिए की एक बिलियन देने की पेशकश

वर्ल्ड बैंक ने भारत सरकार को COVID-19 आपातकाल से निपटने और स्वास्थ्य प्रणाली को दुरुस्त करने की परियोजनों के लिए 1 बिलियन डॉलर देने की पेशकश की है। इस चार वर्षीय परियोजना का उद्देश्य महामारी के समय में भारत की स्वास्थ्य देखभाल प्रणालियों की तैयारियों को विकसित करना है

परियोजना दस्तावेज के अनुसार, भारत में स्वास्थ्य प्रणाली के सही संचालन के लिए इस प्रोजेक्ट को तैयार किया जा रहा है ताकि भारत में कोविड -19 को फैलने और इसके खतरे से बचा जा सके। वर्ल्ड बैंक की फंडिंग COVID-19 फास्ट-ट्रैक सुविधा के तहत जि की जा रही है, जहां दोनों संस्थाएं (वर्ल्ड बैंक और भारत सरकार) सर्वश्रेष्ठ अंतरराष्ट्रीय प्रयसों को अमल में लाने पर काम करेंगी।


PhonePe launches coronavirus insurance policy ‘Corona Care’.

PhonePe has announced the launch of a unique coronavirus hospitalisation insurance policy called “Corona Care.” It has partnered with Bajaj Allianz General Insurance. PhonePe users can purchase their Coronavirus insurance policy under the “My Money” section on the PhonePe app.

Priced at Rs 156 with an insurance cover of Rs 50,000 for a person aged under 55 years and the cover is applicable at any hospital offering coronavirus treatment.

It also covers 30 days of expenses related to pre-hospitalization costs and post-care medical treatment. Customers don’t need to undertake any medical tests before purchasing the Corona Care policy.

PhonePe ने कोरोनावायरस से इलाज के लिए ‘कोरोना केयर‘ बीमा पॉलिसी लॉन्च की

फोनपे (PhonePe) ने बजाज आलियांज जनरल इंश्योरेंस के साथ मिलकर कोरोनोवायरस हॉस्पिटलाइज़ेशन बीमा पॉलिसी कोरोना केयर शुरू करने की घोषणा की है। PhonePe यूजर्स फोनपे ऐप पर My Money” सेक्शन पर जाकर अपने लिए कोरोनवायरस वायरस पॉलिसी खरीद सकते हैं।

बीमा पॉलिसी का प्रीमियम 156 रुपये का होगा, जिसमें 55 साल से कम उम्र के व्यक्ति के लिए 50,000 रुपये का बीमा कवर दिया जाएगा, जो कोरोनावायरस का उपचार करने वाले सभी अस्पताल के लिए लागू होगा.

साथ ही इसके अंतर्गत अस्पताल में भर्ती होने के 30 पहले और बाद के चिकित्सा उपचार से संबंधित खर्चों को भी कवर कियाजाएगा. कोरोना केयर पॉलिसी खरीदने के लिए ग्राहकों को कोई मेडिकल टेस्ट कराने की आवश्यकता नहीं होगी.


Naval Dockyard Mumbai designs low cost Temperature Gun.

Naval Dockyard, Mumbai has designed and developed its own handheld IR based temperature sensor with an accuracy of 0.02 deg Celsius, for undertaking screening of large number of personnel at the entry gates of the yard reducing the load on the security sentries at the gate. The instrument has been manufactured under Rs. 1000/through in-house resources (which is fraction of the cost of the Temperature Guns in the market).

नौसेना के मुंबई स्थित डॉकयार्ड ने बनाई कोरोना जांच के लिए कम लागत वाली इन्फ्रारेड सेंसर गन  

नौसेना के मुबंई स्थिति डॉकयार्ड ने अपने  प्रवेश द्वारों पर बड़ी संख्या में कर्मियों की स्क्रीनिंग के लिए 0.02 डिग्री सेल्सियस तक के शारीरिक तापमान को सटीकता के साथ नापने में सक्षम इन्फ्रारेड तापमान सेंसर गन डिजाइन की है, ताकि सुरक्षा जांच गतिविधियों पर बोझ कम किया जा सके। डॉकयार्ड द्वारा खुद के उपलब्ध संसाधनों से विकसित इस गन की कीमत 1000 रूपए से भी कम है जो कि बाजार में उपलब्ध ऐसे अन्य गनों की कीमत का अंश भर है।


DRDO develops bio suit for health professionals fighting COVID-19.

Defence Research and Development Organisation (DRDO) has developed a bio suit to keep the medical, paramedical and other personnel engaged in combating COVID-19 safe from the deadly virus. Scientists at various DRDO laboratories have applied their technical know-how and expertise in textile, coating and nanotechnology to develop the Personal Protective Equipment (PPE) having specific type of fabric with coating.

The protection against synthetic blood exceeds the criteria defined for body suits by Ministry of Health and Family Welfare (MoHFW). The current production capacity is 7,000 suits per day, but soon it will reach up to 15000 suits per day with the help of some another vendors.

डीआरडीओ ने कोविड-19 से लड़ने वाले स्वास्थ्य पेशेवरों के लिए जैविक सूट विकसित किया

रक्षा अनुसंधान एवं विकास संगठन (डीआरडीओ) द्वारा कोविड-19 से मुकाबला करने वाले मेडिकल, पैरामेडिकल और अन्य कर्मियों को जानलेवा वायरस से सुरक्षित रखने के लिए जैविक सूट तैयार किया गया है। डीआरडीओ के विभिन्न प्रयोगशालाओं के वैज्ञानिकों ने अपने इसके लिए अपने तकनीकी ज्ञान का इस्तेमाल किया है- कि कैसे व्यक्तिगत सुरक्षा उपकरण (पीपीई) को विकसित करने के लिए टेक्सटाइल, कोटिंग और नैनोटेक्नालजी की दक्षता का उपयोग किया जाए, जिसमें कोटिंग के साथ विशिष्ट प्रकार के कपड़े शामिल हों।

इसमें कृत्रिम रक्त से सुरक्षा का मानदंड, स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण मंत्रालय द्वारा बॉडी सूट के लिए निर्धारित मानदंडों से कहीं ज्यादा है। वर्तमान समय में उत्पादन क्षमता प्रतिदिन 7,000 सूट है, जिसे अन्य निर्माताओं को साथ लाकर प्रति दिन 15,000 सूट तक बढ़ाया जाएगा ।


World Autism Awareness Day observed globally on 2 April.

World Autism Awareness Day observed globally on 2 April every year. This year is the 13th annual World Autism Awareness Day. This day is observed to highlight the need to improve the quality of life of those with autism so they can lead full and meaningful lives as an integral part of society. The very first World Autism Day was observed in the year 2008 on April 2. 

This year the World Autism Awareness Day 2020 Theme is ‘The Transition to Adulthood’. This theme draws attention to the adulthood of people with autism.

Autism, or autism spectrum disorder (ASD), refers to a broad range of conditions characterized by challenges with social skills, repetitive behaviours, speech and nonverbal communication.

वर्ल्ड ऑटिज्म अवेयरनेस दिवस 2 अप्रैल को मनाया गया

हर साल 2 अप्रैल को दुनिया भर में वर्ल्ड ऑटिज्म अवेयरनेस डे मनाया जाता है। इस वर्ष 13 वां वार्षिक वर्ल्ड ऑटिज्म अवेयरनेस डे मनाया जा रहा है। इस दिन को ऑटिज्म से ग्रस्त लोगों को इससे लड़ने तथा इसका निदान करने के लिए प्रोत्साहित किया जाता है ताकि वे समाज में अन्य लोगो की तरह पूर्ण और सार्थक जीवन जी सकें। वर्ष 2008 में 2 अप्रैल को पहला विश्व ऑटिज्म जागरूकता दिवस मनाया गया था।

इस वर्ष के विश्व ऑटिज्म जागरूकता दिवस 2020 का थीम The Transition to Adulthood’ है। यह विषय ऑटिज्म से ग्रस्त लोगों के वयस्कता की ओर ध्यान आकर्षित करता है।

ऑटिज़्म, या ऑटिज़्म स्पेक्ट्रम डिसऑर्डर (ASD) मस्तिष्क विकास में उत्पन्न बाधा संबंधी विकार है। ऑटिज्म से ग्रसित व्यक्ति दूसरों से अलग स्वयं में खोया रहता है।


Padma Shri awardee Bhai Nirmal Singh passes away

Padma Shri awardee and former Hazuri Raagi at the Golden Temple, Bhai Nirmal Singh passed away after testing positive for COVID-19. Bhai Nirmal Singh was a Gurbani exponent at the Golden Temple in Amritsar, Punjab.

Bhai Nirmal Singh was having the knowledge of all 31 “raags” in the Gurbani of the Guru Granth Sahib. He was awarded the Padma Shri award in 2009.

पद्मश्री से सम्मानित भाई निर्मल सिंह का निधन

पद्मश्री से सम्मानित और स्वर्ण मंदिर के पूर्व हजूरी रागी’ भाई निर्मल सिंह का COVID-19 टेस्ट पॉजिटिव आने के बाद निधन। भाई निर्मल सिंह पंजाब के अमृतसर में स्वर्ण मंदिर में गुरबानी व्याख्याता थे।

भाई निर्मल सिंह को गुरुग्रंथ साहिब की गुरबाणी के सभी 31 “राग्स” का ज्ञान था। उन्हें 2009 में पद्म श्री पुरस्कार से सम्मानित किया गया था।


Nobel laureate Phillip Anderson passes away

Nobel Prize-winning physicist Philip Warren Anderson passed away. He received Nobel Prize in Physics in 1977, along with Nevill Francis Mott of Britain & the American John Hasbrouck van Vleck, for their contribution on fundamental theoretical investigations of the electronic structure of magnetic and disordered systems. He served in the Navy during World War II & was assigned to work in the U.S. Naval Research Lab.

नोबेल पुरस्कार से सम्मानित फिलिप वारेन एंडरसन का निधन

नोबेल पुरस्कार विजेता भौतिक विज्ञानी फिलिप वारेन एंडरसन का हाल ही में निधन हो गया हैं। उन्हें 1977 में ब्रिटेन के नेविल फ्रांसिस मोट और अमेरिकी जॉन हसब्रुक वैन विलेक के साथ चुंबकीय और विकार प्रणालियों की इलेक्ट्रॉनिक संरचना की मूलभूत सैद्धांतिक जांच में उनके योगदान के लिए भौतिकी के नोबेल पुरस्कार से सम्मानित किया गया था। उन्होंने द्वितीय विश्व युद्ध के दौरान नौसेना में अपनी सेवाए दी थी, जिसमे उन्हें अमेरिकी नौसेना अनुसंधान लैब में काम करने का जिम्मा सौंपा गया था।


 

27 March 2020 Current Affairs with, Daily Current Affairs pdf, Next Exam Preparation, Daily Current Affairs pdf,

Daily Show MoreCurrent Affairs pdf, Current Affairs in Hindi, Next Exam Preparation, Daily Current Affairs Quiz, Daily Current Affairs pdf, Current Affairs in Hindi, Next Exam Preparation, Daily Current Affairs Quiz, Daily Current Affairs pdf, Current Affairs in Hindi, Next Exam Preparation, Daily Current Affairs Quiz,Daily Current Affairs Quiz, Daily Current Affairs pdf, Current Affairs in Hindi, Next Exam Preparation, Daily Current Affairs Quiz,Daily Current Affairs Quiz, Daily Current Affairs pdf, Current Affairs in Hindi, Next Exam Preparation, Daily Current Affairs Quiz,Daily Current Affairs Quiz,Current Affairs in Hindi, Daily Current Affairs pdf, Current Affairs in Hindi, Next Exam Preparation, Daily Current Affairs Quiz,Daily Current Affairs Quiz, Daily Current Affairs pdf, Current Affairs in Hindi, Next Exam Preparation, Daily Current Affairs Quiz, Daily Current Affairs pdf, Current Affairs in Hindi, Next Exam Preparation, Daily Current Affairs Quiz,Daily Current Affairs Quiz, Daily Current Affairs pdf, Current Affairs in Hindi, Next Exam Preparation, Daily Current Affairs Quiz,Daily Current Affairs Quiz, Daily Current Affairs pdf, Current Affairs in Hindi, Next Exam Preparation, Daily Current Affairs Quiz, Daily Current Affairs pdf, Current Affairs in Hindi, Next Exam Preparation, Daily Current Affairs Quiz, Daily Current Affairs pdf, Current Affairs in Hindi, Next Exam Preparation, Daily Current Affairs Quiz,Next Exam Preparation, Daily Current Affairs pdf, Current Affairs in Hindi, Next Exam Preparation, Daily Current Affairs Quiz , Daily Current Affairs pdf, Current Affairs in Hindi, Next Exam Preparation, Daily Current Affairs Quiz,

"Help us to provide you more content. Please Like & Share"
WhatsApp chat