09 April 2020 Current Affairs With Pdf

09 April 2020 Current Affairs With Pdf Show More |Notesbag provides daily current affairs in Both languages and that is current affairs in Hindi and daily Current affairs in English. Along with Everyday Current Affairs Notesbag also provide current affairs in pdf.If u will read current affairs gk today it will definitely help you in your next exam preparation. Notesbag also provides daily current affairs quiz for 2020 current affairs. Reading daily current affairs and attempting daily current affairs quiz will definitely make your path towards success. Notesbag current affairs are very useful for SSC Exams, Banking Exams, UPSC exams, and State PCS exams. All current Affairs in Hindi and all Ranks & Reports current Affairs in English useful for the next exam preparation will be shared by us under this category. You can read daily current affairs, monthly current affairs pdf, weekly current affairs pdf and also can download pdf of daily current affairs. Notesbag also provide current affairs one-liner

01 April 2020 Current Affairs withDaily Current Affairs, Next Exam Preparation, Current Affairs PDF, 27 March 2020 Current Affairs withDaily Current Affairs, Next Exam Preparation, Current Affairs PDF,

01 April 2020 Current Affairs with

 

 

 


Swasth ke Sipahi” delivers essential medicines under PMBJP.

Pharmacists, popularly known as “Swasth ke Sipahi of Pradhan Mantri Jan Aushadhi Kendra are delivering essential services and medicines at doorstep of patients and elderly. Swasth ke Sipahi are providing the essential medicines at the doorsteps of patients under the Pradhan Mantri Bhartiya Janaushadhi Pariyojana (PMBJP) of the Government of India.

Pradhan Mantri Jan Aushadhi Kendra are being run under the Department of Pharmaceuticals, Ministry of Chemicals & Fertilizers, Government of India by the Bureau of Pharma PSUs of India (BPPI). The objective of the Pradhan Mantri Jan Aushadhi Kendra was to provide quality and affordable healthcare to anyone in need.

“स्वास्थ्य के सिपाही” PMBJP के तहत लोगों तक जरूरी दवाएं पहुंचा रहे हैं।

प्रधानमंत्री जन औषधि केंद्र के ‘स्वास्थ्य के सिपाही‘ नाम से लोकप्रिय फार्मासिस्टCOVID-19 के कारण लगे देशव्यापी लॉकडाउन के दौरान मरीजों एवं बुजुर्गों के दरवाजों तक अनिवार्य सेवाएं और दवाएं पहुंचाने में लगे हुए हैं। स्वास्थ्य के सिपाही,भारत सरकार की प्रधानमंत्री जन औषधि परियोजना (PMBJP) के तहत रोगियों के दरवाजे तक जरुरी दवाएं उपलब्ध करा रहे है।

प्रधानमंत्री जनऔषधि केंद्र का संचालन भारत के फार्मा पीएसयू ब्यूरो ऑफ इंडिया (BPPI) द्वारा भारत सरकार के रसायन एवं उर्वरक मंत्रालय के अंतर्गत किया जा रहा है। प्रधानमंत्री जनऔषधि केंद्र का उद्देश्य किसी को भी जरूरतमंदों को गुणवत्ता और सस्ती स्वास्थ्य सेवा प्रदान करना है।


DoPT to lunch first of its kind iGOT e-learning Platform.

The Department of Personnel and Training has announced the launch of a learning platform (https://igot.gov.in) to combat COVID 19 for all front-line workers to equip them with the training and updates in coping with Pandemic. Appropriate training will also prepare them for the subsequent stages of the pandemic.

The platform delivers curated, role-specific content, to each learner at his place of work or home and to any device of his choice. iGOT platform is designed to population scale, and will provide training to around 1.50 crore workers and volunteers in the coming weeks. To begin with nine (9) courses on iGOT have been launched on topics like Basics of COVID, ICU Care and Ventilation Management, Clinical Management, Infection Prevention through PPE, Infection Control and Prevention, Quarantine and Isolation, Laboratory Sample Collection and Testing, Management of COVID 19 Cases, COVID 19 Training.

डीओपीटी अपनी तरह के पहले आईजीओटी-ई लर्निंग प्लेटफार्म को लाँच करेगा।

कार्मिक एवं प्रशिक्षण विभाग ने अग्रिम पंक्ति के सभी कार्यकर्ताओं के लिए कोविड-19 से लड़ने के लिए एक लर्निंग प्लेटफार्म (https://igot.gov.in) लांच करने की घोषणा की है जिससे कि इस महामारी से निपटने में प्रशिक्षण एवं अपडेटों के साथ उन्हें सुसज्जित किया जा सके। उपयुक्त प्रशिक्षण उन्हें महामारी के बाद के चरणों के लिए भी तैयार करेगा।

यह प्लेटफार्म प्रत्येक लर्नर को उसके कार्यस्थल या घर पर और उसकी पसंद के किसी भी डिवाइस को क्यूरेटेड,भूमिका विशिष्ट कंटेंट की प्रदायगी करता है। आईजीओटी प्लेटफार्म की डिजाइन जनसंख्या के परिमाण के अनुरूप बनाई गई है और यह आने वाले सप्ताहों में लगभग 1.50 करोड़ श्रमिकों एवं स्वयंसेवकों को प्रशिक्षण प्रदान करेगा। कोविड के बेसिक्स, आईसीयू केयर एवं वेंटिलेशन प्रबंधन, क्लिनिकल प्रबंधन, पीपीई के जरिये संक्रमण रोकथाम, संक्रमण नियंत्रण एवं बचाव, क्वारांटाइन एवं आइसोलेशन, प्रयोगशाला नमूना संग्रहण एवं परीक्षण, कोविड-19 मामलों का प्रबंधन, कोविड-19 प्रशिक्षण जैसे विषयों पर नौ (9)पाठ्यक्रमों के साथ आईजीओटी पर इसे आरंभ किया गया है।


TRIFED to launch a digital campaign in collaboration with UNICEF.

To ensure tribal gatherers carry on their work safely, TRIFED has collaborated with UNICEF for developing a digital communication strategy for promoting a digital campaign for Self Help Groups (SHGs) involved in this work, highlighting the importance of Social Distancing.

UNICEF would provide the necessary support to be circulated to the SHG centers in the form of Digital Multimedia content, Webinars for Virtual trainings (basic orientation on COVID response, key preventive behaviours), Social Media campaigns (on social distancing, home quarantine, etc.) and Vanya Radio.

A total of 1205 Van Dhan Vikas Kendras (VDVKs) have been sanctioned in 27 States and 1 Union territory involving around 18,075 Van Dhan Self Help Groups. This involves over 3.6 Lakhs tribal gatherers in the Scheme.

ट्राइफेड, यूनिसेफ के सहयोग से एक डिजिटल अभियान की शुरुआत करेगा।

ट्राइफेड, यूनिसेफ के साथ मिलकर स्वयं सहायता समूहों के लिए एक डिजिटल अभियान की शुरुआत करेगा। इसके लिए डिजिटल संचार रणनीति विकसित की गई है। इसका उद्देश्य यह सुनिश्चित करना है कि जनजातीय-संग्राहक सुरक्षित रूप से अपना कार्य कर सकें। इस अभियान में एक-दूसरे से आवश्यक दूरी बनाए रखने के संदेश को प्राथमिकता दी जाएगी।

यूनिसेफ डिजिटल मीडिया सामग्री प्रदान करेगा जिसे सभी स्वयं सहायता समूह (एसएचजी) केन्द्रों पर वितरित किया जाएगा। यूनिसेफ के सहयोग से वर्चुअल प्रशिक्षण (कोविड के संबंध में मूल जानकारी, प्रमुख रोकथाम व्यवहार) के लिए वेबिनार आयोजित किए जाएंगे; सोशल मीडिया अभियान (एक-दूसरे से आवश्यक दूरी बनाए रखना घर में क्वारंटाइन होना) चलाए जाएंगे तथा वन्य रेडियो का संचालन किया जाएगा।

27 राज्यों और एक केन्द्र शासित प्रदेश में कुल 1205 वन धन विकास केन्द्रों (वीडीवीके) को मंजूरी मिली है। उनसे 18,075 वन धन स्वयं सहायता समूह जुड़े हुए हैं। इस योजना से लगभग 3.6 लाख जनजातीय संग्राहक जुड़े हुए हैं।


Twitter CEO pledges $1 billion to combat COVID-19 pandemic.

Chief Executive Officer of Twitter, Jack Dorsey has pledged to donate $1 billion to charities working towards combatting the global COVID-19 pandemic. The donation of $1 billion by the Twitter CEO seems to be the largest donation pledged by a private individual in the fight against COVID-19 pandemic.

To fulfill the donation amount of $1 billion, Jack Dorsey will move $1 billion of his digital payments group “Square” equity i.e. 28% of his wealth, to #startsmall LLC to fund global COVID-19 relief.

ट्विटर के सीईओ COVID-19 महामारी से निपटने के लिए 1 बिलियन डॉलर देंगे

ट्विटर के मुख्य कार्यकारी अधिकारी जैक डोर्सी ने विश्व में फैली COVID-19 महामारी से निपटने के लिए काम करने वाली संस्थाओं को 1 बिलियन डॉलर (लगभग 6 हजार पांच सौ करोड़ रुपए) की राशि देने का ऐलान किया है। ट्विटर के सीईओ द्वारा दिए जाने वाले 1 बिलियन डॉलर COVID-19 महामारी से लड़ने के लिए अब तक किसी भी निजी व्यक्ति दी जाने वाली सबसे बड़ी राशि है।

जैक डोर्सी  वैश्विक COVID -19 राहत कोष के लिए 1 बिलियन डॉलर की राशि जुटाने के लिए,  #startsmall LLC को अपने डिजिटल भुगतान समूह “स्क्वायर” इक्विटी यानी अपनी संपत्ति का 28% धन, #startsmall LLC में स्थानांतरित करेंगे।


USAID announces $2.9 million aid to India to fight Covid19.

The United States has announced $2.9 million aid for India through the US Agency for International Development (USAID). The funds announced are going to help India in its fight against COVID-19 and to also provide care for those who are affected and help the local communities with the tools to stop the pandemic spreading in the country. The Centers for Disease Control and Prevention (CDC), and other relevant agencies, is working closely with India to support the country’s response to the pandemic.

The US Agency for International Development (USAID) is one of the leading aid agencies globally. It will also support the World Health Organization (WHO) initiatives in India. The funds will help the Government of India slow the spread of COVID-19, provide care for the affected, and support local communities with the tools needed to contain the disease.

USAID ने भारत को कोविड-19 से लड़ने के लिए 2.9 मिलियन डॉलर की वित्तीय सहायता

अमेरिका ने यूएस एजेंसी फॉर इंटरनेशनल डेवलपमेंट (USAID) के माध्यम से भारत को 2.9 मिलियन डॉलर की सहायता देने की घोषणा की है। भारत को यह राशि COVID-19 से निपटने में मदद करने और देश में फैल रही महामारी को रोकने के लिए कोरोना संक्रमितों की देखभाल करने वाले स्थानीय समुदायों को उपकरणों की मदद के लिए दी जाएगी। अमेरिका की रोग नियंत्रण और रोकथाम केंद्र (सीडीसी) और अन्य संबंधित एजेंसियां, भारत के साथ मिलकर काम कर रही हैं ताकि देश में फैली महामारी को नियंत्रित किया जा सके।

यूएस एजेंसी फॉर इंटरनेशनल डेवलपमेंट (USAID) विश्व स्तर पर वित्तीय सहायता करने वाली प्रमुख एजेंसियों में से एक है। साथ ही यह भारत में विश्व स्वास्थ्य संगठन (डब्ल्यूएचओ) की पहल में भी सहयोग करेगा। यह कोष भारत सरकार को COVID-19 को फैलने से रोकने में मदद करेगा, प्रभावितों की देखभाल करने, और बीमारी को रोकने के लिए आवश्यक उपकरणों के निर्माण सहित स्थानीय समुदायों की सहायता करेगा।


Chhattisgarh Police create app ‘Rakhsa Sarv’ for quarantined people.

The Chhattisgarh police developed the app ‘Rakhsa Sarv’, with the help of Noida-based startup Mobcoder, which enables them to track the quarantined people through Google Map. The purpose of launching the app is that a large number of people are kept in-home quarantine, and so it is not possible to keep each one under surveillance on a regular basis.

Details of the home-quarantined people are being fed in the app’s dashboard. The quarantined person will have to upload a selfie in the app every hour which will specify his/her location. Police teams have started installing the application in the phones of those kept under home quarantine and so far, over 50 per cent of such people have been covered.

छत्तीसगढ़ पुलिस ने होम क्वारंटाइन्ड लोगों के लिए ‘रक्षा सर्व’ ऐप विकसित की

छत्तीसगढ़ पुलिस ने गूगल मैप के माध्यम से क्वारंटाइन्ड लोगों को ट्रैक करने के लिए नोएडा स्थित स्टार्टअप मोबकोडर की सहायता से ‘रक्षा सर्व’ (Rakhsa Sarvऐप विकसित की है। कोरोना की संख्या में लगातार होती बढ़ोतरी के कारण घर पर क्वारंटाइन्ड किए गए हर व्यक्ति पर नियमित निगरानी रख पाना बेहद मुश्किल है, इसी उद्देश्य के साथ ऐप को लॉन्च किया गया है ताकि पुलिस निगरानी में सक्षम हो सके।

इस ऐप पर घर पर क्वारंटाइन्ड किए गए सभी व्यक्तियों का देता डाला जा रहा है। इसमें क्वारंटाइन व्यक्ति को हर घंटे में ऐप पर अपनी एक सेल्फी अपलोड करनी होगी जिससे उसका स्थान निश्चित किया जा सकेगा। पुलिस की टीमों ने होम क्वारंटाइन्ड के तहत रखे गए लोगों के फोन में एप्लिकेशन इंस्टॉल करना शुरू कर दिया है और अब तक ऐसे लोगों में से 50 प्रतिशत से अधिक को कवर किया जा चुका है।


Delhi Govt. launches 5T plan to contain COVID-19 crisis.

The Delhi Chief Minister Arvind Kejriwal has launched a 5T plan to contain the COVID-19 pandemic in the national capital. According to the Delhi governemt, the 5T plan consists of 5 pillars namely: testing, tracing, treatment, teamwork and tracking.

Under the Testing”, the Delhi government will conduct one lakh rapid tests in hotspot areas.  Under “Tracing” Testing process is followed by another key step i.e. tracing under which people are identified who have come in contact with a positive patient and are asked to self-quarantine. Under Treatment” serious patients and elderly will be kept in hospitals. Under Teamwork” to contain the spread of novel coronavirus, role of “teamwork” is very important. And Under “Trackingthe developments and the actions taken to stop the spread of the Covid-19 will actively tracked by the Delhi government.

दिल्ली सरकार ने COVID-19 संकट से निपटने के लिए 5T प्लान की घोषणा कि।

दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने देश की राजधानी में COVID-19 महामारी को रोकने के लिए 5T योजना का ऐलान किया है। दिल्ली सरकार के अनुसार, 5T योजना में 5 बिंदुटेस्टिंग, ट्रेसिंग, ट्रीटमेंट, टीमवर्क और ट्रैकिंग शामिल हैं।

“Testing” के अंतर्गत दिल्ली सरकार नोवेल कोरोनोवायरस को फैलने से रोकने के लिए हॉटस्पॉट क्षेत्रों में एक लाख रैपिड टेस्ट करेगी । “Tracing” के अंतर्गत पॉजिटिव रोगी के संपर्क में आए लोगों की पहचान की जाएगी और उन्हें सेल्फ-क्वारंटाइन करने के लिए कहा जाएगा। “Treatment” के अंतर्गत गंभीर और बुजुर्गों रोगियों को अस्पतालों में रखा जाएगा, जबकि सामान्य लक्षण वाले मरीजों को होटल और धर्मशालाओं में रखा जाएगा। “Teamwork” के अंतर्गत नोवेल कोरोनावायरस को फैलने से रोकने के लिए “टीमवर्क” की भूमिका बहुत ही महत्वपूर्ण है। “Tracking” के अंतर्गत कोविड -19 को फैलने से रोकने के लिए किए जा रही कार्रवाई और योजनाओं पर दिल्ली सरकार द्वारा सक्रिय रूप से निगरानी रखी जाएगी.


Telangana deploys Vera’s COVID-19 monitoring system App.

The government of Telangana invested swiftly to deploy India’s first automated “COVID-19 Monitoring System App” by Vera Smart Healthcare. The objective of this app is to identify patients, undertake live surveillance, track, monitor, and provide real-time analytics to the chief minister and the state health department.

Every single device connected with the platform screens 75-100 houses per day. The platform enables health workers to handle 50,000 calls/chatbot interactions per month. 1,500-2,000 Asha and ANM workers will be using this app at any given point of time. These workers will forward the information to around 4,800 PHC sub-centres from where it will be sent to one of the state’s 886 public health centres (PHCs).

तेलंगाना सरकार ने “COVID-19 मॉनिटरिंग सिस्टम ऐप” विकसित करने की योजना

तेलंगाना सरकार ने वेरा स्मार्ट हेल्थकेयर द्वारा भारत की पहली ऑटोमेटेड COVID-19 मॉनिटरिंग सिस्टम ऐप को विकसित करने के लिए निवेश किया। इस ऐप का उद्देश्य मुख्यमंत्री और राज्य के स्वास्थ्य विभाग को मरीजों की पहचान, लाइव निगरानी, ट्रैक और मॉनिटर करके वास्तविक समय की विश्लेषण जानकारी प्रदान करना है।

इस मंच से जुड़ा हर एक उपकरण प्रति दिन 75-100 घरों की स्क्रीन करने में सक्षम होगा । यह प्लेटफार्म प्रति माह 50,000 कॉल / चैटबॉट बातचीत की देख रेख करने में स्वास्थ्य कार्यकर्ताओं की सक्षम बनाएगा । इस ऐप का उपयोग 1,500-2,000 आशा और एएनएम कार्यकर्ता किसी भी समय कर सकेंगे । ये कार्यकर्ता लगभग 4,800 PHC उप-केंद्रों को सूचना भेजेंगे, जहाँ से इसे राज्य के 886 सार्वजनिक स्वास्थ्य केंद्रों (PHCs) में भेजा जाएगा ।


SIDBI to provide emergency working capital to MSMEs.

The Small Industries Development Bank of India (SIDBI) will facilitate Micro, Small and Medium Enterprises (MSMEs) with emergency working capital of up to Rs 1 crore against their confirmed government orders. The SIDBI’s new loan product i.e. SIDBI Assistance to Facilitate Emergency response against Coronavirus (SAFE) plus will be provided collateral free and disbursed within 48 hours at an interest rate of 5%.

Along with the above measures, SIDBI has also increased the loan limit for MSMEs from Rs 50 lakh to Rs 2 crore under the SAFE plus initiative. The scheme was launched by SIDBI to provide financial assistance to MSMEs that are engaged in the manufacturing of range of products such as hand sanitizers, shoe-covers, ventilators, head gear, bodysuits, masks, gloves and goggles used in dealing with COVID-19.

सिडबी अपने MSME’s को उपलब्ध आपात कार्यशील पूंजी कराएगा

भारतीय लघु उद्योग विकास बैंक (Small Industries Development Bank of India-SIDBI) ने सूक्ष्म, लघु और मध्यम उद्यमों (MSME) को सरकारी आदेश पर एक करोड़ रूपए तक की आपात कार्यशील पूंजी उपलब्ध कराने का फैसला किया है । SIDBI के नए ऋण उत्पाद यानी कोरोना वायरस संक्रमण के खिलाफ सिडबी की आपात सहायता-सेफ प्लस की सुविधा रेहनमुक्त होगी जिसे 5% की ब्याज दर पर 48 घंटे के अंदर जारी कर दिया जाएगा।

उपरोक्त उपायों के अलावा, SIDBI ने सेफ प्लस पहल के तहत MSMEs के लिए ऋण सीमा को 50 लाख से बढ़ाकर 2 करोड़ रुपये कर दिया है। SIDBI द्वारा यह योजना COVID-19 से निपटने में उपयोग किए जाने वाले उत्पादों जैसे कि हैंड सैनिटाइज़र, शू-कवर, वेंटिलेटर, हेड गियर, बॉडीसूट्स, मास्क, दस्ताने और गॉगल्स के निर्माण में लगे हुए MSMEs को वित्तीय सहायता प्रदान करने के लिए शुरू की गई  हैं।


Airtel Payments Bank to offer COVID-19 insurance policy.

The Airtel Payments Bank has partnered with Bharati AXA General Insurance to launch a COVID-19 insurance policy. The Bharti AXA Group Health Assure Policy has rolled out a policy with a fixed cover offering 100% sum insured as a lump sum, if the policy holder is diagnosed positive or gets quarantined in a government hospital or military facility/establishment. The insurance plan can be purchased directly from the banking section of the ‘Airtel Thanks App’ or by visiting the nearest active banking point-of-sales (POS) of Airtel Payments Bank at a price of Rs 499 for fixed sum insured of Rs 25,000.

एयरटेल पेमेंट्स बैंक ने COVID-19 बीमा पॉलिसी लॉन्च की

एयरटेल पेमेंट्स बैंक ने भारती एक्सा जनरल इंश्योरेंस के साथ मिलकर COVID-19 बीमा पॉलिसी लॉन्च की है। भारती एक्सा ग्रुप हेल्थ एश्योर पॉलिसी को एक निश्चित कवर के साथ लॉन्च किया गया है, जिसके अंतर्गत सरकारी अस्पताल या सैन्य सुविधा / सेन्टरों में कोरोना उपचार के लिए क्वारंटाइन किए गए पॉलिसी धारक को  कवर किया जाएगा। इस बीमा पॉलिसी सीधे एयरटेल थैंक्स ऐप ’के बैंकिंग सेक्शन से खरीदा जा सकता है या एयरटेल पेमेंट्स बैंक के निकटतम एक्टिव बैंकिंग प्वाइंट-ऑफ-सेल्स (पीओएस) पर जाकर 499 रुपये की निश्चित बीमा राशि पर खरीदा जा सकता है, इस पॉलिसी में 25000 रुपये का सम अस्सुरेड दिया जाएगा।


Reliance General Insurance launches COVID-19 protection insurance cover.

Non-life insurer Reliance General Insurance launched a COVID-19 protection insurance scheme, which offers 100 per cent of the sum-insured in lump sum on positive diagnosis of coronavirus. In case a person is quarantined, the plan offers 50 per cent of the sum-insured during that period.

The plan has a policy period of one year and the waiting period is for 15 days before one can claim against the policy.

The plan will cover anyone aged between 3 months and 60 years, for a sum-insured option from ₹25,000 to ₹2 lakh.

रिलायंस जनरल इंश्योरेंस ने COVID-19 सुरक्षा बीमा कवर लॉन्च किया

गैर-जीवन बीमाकर्ता रिलायंस जनरल इंश्योरेंस ने एक COVID-19 सुरक्षा बीमा योजना शुरू की, जो कोरोवायरस से सकारात्मक पाये जाने पर एकमुश्त बीमा राशि का 100 प्रतिशत प्रदान करती है। यदि कोई व्यक्ति संगरोध होता है, तो योजना उस अवधि के दौरान बीमित राशि का 50 प्रतिशत प्रदान करती है।

योजना की एक वर्ष की नीति अवधि होती है और प्रतीक्षा अवधि 15 दिनों के लिए होती है, इससे पहले कि कोई नीति के खिलाफ दावा कर सके।

योजना ₹25,000 से2 लाख तक की बीमा राशि के विकल्प के लिए 3 महीने से 60 वर्ष के बीच की आयु के किसी को भी कवर करेगी।


Ola launched ‘Ola Emergency’ service for hospital visits in Bangalore.

Ola announced the launch of ‘Ola Emergency’ to enable riders to book non-COVID-19 medical trips, which do not require ambulance, to over 200 hospitals in Bengaluru.

The service has been launched in collaboration with the Karnataka Health Ministry, and the company is looking at expanding the category in other major cities soon.

ओला ने बैंगलोर में अस्पताल के दौरे के लिए ‘ओला इमरजेंसी‘ सेवा शुरू की

ओला ने बेंगलुरू के 200 से अधिक अस्पतालों में गैर-कोविड -19 चिकित्सा यात्राओं, जिसमें एम्बुलेंस की आवश्यकता नहीं है, को बुक करने के लिए सवारियों को सक्षम करने के लिए ‘ओला आपातकाल‘ शुरू करने की घोषणा की।

यह सेवा कर्नाटक स्वास्थ्य मंत्रालय के सहयोग से शुरू की गई है, और कंपनी जल्द ही अन्य प्रमुख शहरों में श्रेणी का विस्तार करने की कोशिश कर रही है।


27 March 2020 Current Affairs with, Daily Current Affairs pdf, Next Exam Preparation, Daily Current Affairs pdf,

Daily Show MoreCurrent Affairs pdf, Current Affairs in Hindi, Next Exam Preparation, Daily Current Affairs Quiz, Daily Current Affairs pdf, Current Affairs in Hindi, Next Exam Preparation, Daily Current Affairs Quiz, Daily Current Affairs pdf, Current Affairs in Hindi, Next Exam Preparation, Daily Current Affairs Quiz,Daily Current Affairs Quiz, Daily Current Affairs pdf, Current Affairs in Hindi, Next Exam Preparation, Daily Current Affairs Quiz,Daily Current Affairs Quiz, Daily Current Affairs pdf, Current Affairs in Hindi, Next Exam Preparation, Daily Current Affairs Quiz,Daily Current Affairs Quiz,Current Affairs in Hindi, Daily Current Affairs pdf, Current Affairs in Hindi, Next Exam Preparation, Daily Current Affairs Quiz,Daily Current Affairs Quiz, Daily Current Affairs pdf, Current Affairs in Hindi, Next Exam Preparation, Daily Current Affairs Quiz, Daily Current Affairs pdf, Current Affairs in Hindi, Next Exam Preparation, Daily Current Affairs Quiz,Daily Current Affairs Quiz, Daily Current Affairs pdf, Current Affairs in Hindi, Next Exam Preparation, Daily Current Affairs Quiz,Daily Current Affairs Quiz, Daily Current Affairs pdf, Current Affairs in Hindi, Next Exam Preparation, Daily Current Affairs Quiz, Daily Current Affairs pdf, Current Affairs in Hindi, Next Exam Preparation, Daily Current Affairs Quiz, Daily Current Affairs pdf, Current Affairs in Hindi, Next Exam Preparation, Daily Current Affairs Quiz,Next Exam Preparation, Daily Current Affairs pdf, Current Affairs in Hindi, Next Exam Preparation, Daily Current Affairs Quiz , Daily Current Affairs pdf, Current Affairs in Hindi, Next Exam Preparation, Daily Current Affairs Quiz,

"Help us to provide you more content. Please Like & Share"
WhatsApp chat